RBI Saving Bond Scheme In Hindi

RBI Saving Bond Scheme In Hindi नमस्कार दोस्तों आप सभी का स्वागत है हमारे ब्लॉग पर आज के इस आर्टिकल में हम बात करने वाले हैं RBI Saving bond की जो की RBI की एक बेस्ट सेविंग स्कीम है और आज के इस आर्टिकल में हम जानेंगे की RBI सेविंग बॉन्ड क्या होते हैं इसमें अप्लाई करने की योग्यता क्या होती है , इसमें करेंट इंट्रेस्ट रेट क्या चल रहा है , मैच्योरिटी पीरियड कितनी है, नॉमिनेशन की क्या फैसिलिटी है और भी बहुत कुछ इस स्कीम के बारे में तो इसके लिए इस आर्टिकल को आप लास्ट तक जरूर पढ़ें ।

RBI Saving Bond Scheme क्या है?

तो जैसे की नाम से ही हमे पता चल रहा है की ये बॉन्ड RBI इश्यू करती है लेकिन साथ ही साथ ये कुछ प्राइवेट और गवर्नमेंट बैंक भी इश्यू करते हैं जहां पर गवर्नमेंट सिक्योरिटी रखी जाती है क्योंकि ये बॉन्ड RBI इश्यू करती है तो सिक्योरिटी का तो कोई सवाल ही नही आता है ।चलिए अब जानते है इसमें आवेदन करते की योग्यता क्या है?

RBI सेविंग बॉन्ड में आवेदन करने हेतु योग्यता :-

  1. इन बॉन्ड्स में कोई भी भारतीय निवेश कर सकता है ।
  2. इसमें इंडिविजुअल अकाउंट , ज्वाइन अकाउंट, मैनर अकाउंट कुछ भी ओपन करवाया जा सकता है और मैनर अकाउंट को कोई भी पेरेंट ऑपरेट कर सकता है ।
  3. इसमें कोई एनआरआई अप्लाई करने के लिए योग्य नहीं होता है । चलिए अब जानते है इस बॉन्ड की मैच्योरिटी पीरियड क्या होती है?

RBI Saving bond की मैच्योरिटी पीरियड :-

RBI Saving bond इश्यू करने से लेकर 7 साल तक के लिए ये लॉक हो जाता है अब यहां पर ये ध्यान देने वाली बात है की ये जो बॉन्ड्स है वो सीनियर सिटीजन के लिए भी इश्यू किए जाते हैं और उनके लिए इसमें कुछ अतिरिक्त कंडीशन होती हैं तो इस फंड को हम 7 साल से पहले withdraw नहीं कर सकते हैं । बस कुछ परिस्थिती में प्री मैच्योर Withdrawal एलाऊ होता है। चलिए अब जानते है इसके नॉमिनेशन फैसिलिटी के बारे में ।

RBI Saving bond की नॉमिनेशन फैसिलिटी :-

RBI bond में हमे नॉमिनेशन की फैसिलिटी मिलती है तो इसमें अगर कोई भी सिंगल अकाउंट होल्डर या फिर कोई ज्वाइंट अकाउंट होल्डर है दोनो ही इसमें नॉमिनी ऐड कर सकते है। चलिए अब जानते हैं की इसमें न्यूनतम और अधिकतम निवेश कितनी की होती है।

RBI Saving Bond Scheme में न्यूनतम और अधिकतम इंवेस्टमेंट :- 

इस बॉन्ड को हम 1000 रुपए से न्यूनतम खरीद सकते हैं और इस बॉन्ड में इन्वेस्टमेंट 1000 के मल्टीपल में ही होता है । तो हम को भी निवेश करेंगे वो 2000,5000,10,000,50,000 ऐसे ही इन्वेस्टमेंट कर सकते हैं । इसमें हम 15,000 या 25,000 की निवेश नहीं कर सकते । चलिए अब जानते है की इस स्कीम में प्री मेच्योर विड्रॉल का क्या रूल होता है ।

RBI सेविंग बॉन्ड में प्री मेच्योर विड्रॉल :-

जैसा हमने पहले बताया था की इस बॉन्ड का लॉकिंग पीरियड हैं 7 साल । 7 साल से फोर इस बॉन्ड को हम withdraw नहीं कर सकते हैं लेकिन कोई सीनियर सिटीजन ने इस बॉन्ड को इश्यू करवाया है तो उन्हें इसमें प्री मेच्योर विड्रॉल एलाऊ होता है । इसके लिए कुछ सिचुएशन है अगर किसी की आयु 60 से 70 वर्ष की है तो उन्हें 6 वर्ष के बाद विड्रॉल करने की परमीशन मिल सकती है और अगर 70 से 80 वर्ष की उम्र है तो उन्हें 5 साल के बाद और जिनकी आयु 80 से अधिक उन्हे 4 साल के बाद withdraw करने की परमीशन मिल जाती है तो प्री मेच्योर Withdrawal यहां सिर्फ सीनियर सिटीजन के लिए ही उपलब्ध है । पर यहां ध्यान देने वाली बात ये होगी की प्री मैच्योर Withdrawal पर 50% की पेनाल्टी देनी होती है इसका मतलब हैं की अगर हम RBI Saving bond से प्री मेच्योर Withdrawal करते हैं तो हमें 50% की पेनाल्टी चुकानी पड़ेगी लेकिन 50% जो 6 माह का इंट्रेस्ट बना था उसी पर लागू होता है । और अगर किसी कारण से बॉन्ड होल्डर की मृत्यु हो जाती है तो वो बॉन्ड क्लोज नही होता है बल्कि वो उनके नॉमिनी को ट्रांसफर हो जाता है और वही से चालू किया जाता है ।

RBI Saving Bond Scheme में टैक्स बेनिफिट्स :-

इस बॉन्ड में आपको किसी भिवतथ का टैक्स में बेनिफिट्स नहीं मिलता है इसमें हम जो भी इंट्रेस्ट कमाते हैं उसका टैक्स देना होता है और ये टैक्स हमारे टैक्सलैब पर निर्भर करता है और अगर हम कोई टैक्सलेब में नहीं आते है तो कोई भी टैक्स नहीं देना पड़ेगा लेकिन किसी भी टैक्स लैब में आते हैं तो ये इंट्रेस्ट हमारे इनकम में जुड़ जायेगा और उस पर हमे टैक्स देना होगा ।

RBI Saving bond में इंट्रेस्ट रेट :-

RBI Saving bond में इंट्रेस्ट सेविंग अकाउंट और एफडी से काफी अच्छा होता है अभी वर्तमान में इसमें इंट्रेस्ट रेट चल रहा है 7.15% का जो की सेमी एनुअली पैड होता है यानि इसमें अर्न किया जाने वाला इंट्रेस्ट हमे हर 6 महीने में 30 june और 31 दिसंबर को क्रेडिट कर दिया जाता है। अगर हम पोस्ट ऑफिस स्कीम की बात करते हैं तो पोस्ट ऑफिस की स्कीम सबसे अच्छा होता है लेकिन RBI सेविंग बॉन्ड में इंट्रेस्ट इससे अच्छा होता है।

RBI सेविंग बॉन्ड कैसे खरीदें :- 

यह बॉन्ड हम किसी भी राष्ट्रीय बैंक या फिर पब्लिक सेक्टर बैंक में जाकर अप्लाई कर सकते हैं इसके लिए हम आवेदन ऑनलाइन या ऑफलाइन किसी भी तरीके से कर सकते हैं इसमें डॉक्यूमेंट जो हमे चाहिए होता है वो है 

  1. पासपोर्ट फोटो
  2. आधार कार्ड 
  3. पैन कार्ड आदि।

इसके अलावा RBI Bond हमे इलेक्ट्रॉनिक फॉर्म में भी उपलब्ध किया जाता है जो की हमारे अकाउंट में क्रेडिट कर दिया जाता है  जिस पर को हम BLA यानि की Bond Ledger account कहते हैं । इसके साथ ही इस बॉन्ड की कुछ बाते ध्यान देने योग्य है।

RBI Saving bond के महत्त्वपूर्ण प्वाइंट :- 

  1. ये बॉन्ड सेकेंडरी मार्केट में ट्रेड करने के लिए एलिजिबल नही होती है ।
  2. सिर्फ बॉन्ड होल्डर ही इसमें नॉमिनेशन फाइल कर सकता है ।
  3. इस बॉन्ड को ट्रांसफर नहीं क्या जा सकता ये बॉन्ड केवल बॉन्ड होल्डर के मृत्यु की स्थिति में ट्रांसफर किया जा सकता है वो भी सिर्फ नॉमिनी को।

RBI Saving Bond Scheme में निवेश क्यों करें :-

  1. ये बॉन्ड RBI इश्यू करती है तो यहां पर हमारा कैपिटल और इंट्रेस्ट दोनो ही सुरक्षित रहते हैं ।
  2. बॉन्ड मार्केट इंडिया में बहुत अंडररेटेड है जबकि इसका स्कोप बहुत ही हाई है ।
  3. इसमें मिलने वाला इंट्रेस्ट रेट सेविंग अकाउंट , एफडी और बहुत सी गवर्नमेंट स्कीम से ज्यादा होता है ।
  4. इसमें हम न्यूनतम 1000 रुपए से निवेश शुरू कर सकते हैं और अधिकतम जितना भी करना चाहे ।

निष्कर्ष :- 

तो आज के इस आर्टिकल में हमने जाना है RBI की बेस्ट सेविंग स्कीम के बारे में और इससे जुड़ी हुई संपूर्ण जानकारी मुझे आशा है आपके लिए यह आर्टिकल उपयोगी रही होगी और आपको RBI Saving bond के बारे में सारी जानकारी अच्छे से समझ आई होगी तो आज के लिए बस इतना ही आप हमे कॉमेंट में अपना सुझाव जरूर दे इस स्कीम के बारे में और अपने प्रश्न इस सेविंग बॉन्ड से सम्बन्धित भी कॉमेंट के माध्यम से पूछ सकते हैं ।

Read Also: SBI Best Mutual fund scheme

1 thought on “RBI Saving Bond Scheme In Hindi”

Leave a Comment