Top 5 Best Government Investment schemes in Hindi

Top 5 Best Government Investment schemes- नमस्कार दोस्तों आप सभी का स्वगत है हमारे ब्लॉग पर आज के इस आर्टिकल में हम जानेंगे 5 सबसे बेस्ट सरकारी निवेश योजनाओं के बारे । इस ऑर्टिकल में, हमने उन सरकारी योजनाओं के बारे में चर्चा की है, जिन्होंने हमें कम जोखिम के साथ सर्वश्रेष्ठ रिटर्न दिया है। तो आइए जानते हैं कौन सी है वो सरकारी स्कीम ।

1. SOVEREIGN GOLD BOND (SGB)

इस योजना को सरकार ने वर्ष 2015 में गोल्ड मोनेटाइजेशन स्कीम के तहत लॉन्च किया था । इसके सारे लाउंचेस से लेकर टर्म्स और कंडीशन , प्राइसिंग और इंट्रेस्ट सब कुछ आरबीआई भारत सरकार से कंसल्ट करके निर्णय लेती है । इसमें 2.5 % का इंट्रेस्ट रेट मिलता है प्रति वर्ष । सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड (SGB) भौतिक सोने में निवेश का सही विकल्प हैं। इन बांडों के साथ, आप पूंजी वृद्धि का आनंद ले सकते हैं और हर साल ब्याज भी अर्जित कर सकते हैं। भारत सरकार द्वारा जारी किए गए ये बांड भौतिक सोने से जुड़े कई जोखिमों को भी समाप्त करते हैं। SGB, सोने के ग्राम में अंकित सरकारी प्रतिभूतियां, भौतिक सोना रखने के विकल्प हैं।  निवेशकों को निर्गम मूल्य नकद में देना होगा और बांड परिपक्वता पर नकद में भुक्तान मिलेगी। SGB ​​सरकार के लिए सभी सोने के निवेश को डिजिटल मोड में बदलने का एक पसंदीदा मार्ग है, यह घाटे को नियंत्रण में रखने में मदद करेगा, और मुद्रा को सहायता प्रदान करेगा। इसमें SGB सर्टिफिकेट भी मिलता है जिसकी खास बात ये है की इस सर्टिफिकेट को गिरवी रख कर आप बैंक से लोन भी ले सकते हैं । तो आप काफी समय से अगर आप किसी सरकारी स्कीम में निवेश करने का सोच रहे हैं तो यह आपके लिए एक अच्छी निवेश योजना हो सकी है।

2. NATIONAL PENSION SCHEME (NPS)

अगली योजना जिस पर 100 % सुरक्षा के साथ निवेश कर सकते हैं , वह है NPS यानि की राष्ट्रीय पेंशन योजना।  राष्ट्रीय पेंशन योजना (एनपीएस) भारत पेंशन फंड नियामक और विकास प्राधिकरण (PFRDA) और केंद्र सरकार के दायरे में सेवानिवृत्ति के लिए एक स्वैच्छिक और दीर्घकालिक निवेश योजना है।  यह योजना लोगों को उनके रोजगार के दौरान नियमित अंतराल पर पेंशन खाते में निवेश करने के लिए प्रोत्साहित करती है। सेवानिवृत्ति के बाद अभिदाता कुल धनराशि का एक निश्चित प्रतिशत निकाल सकते हैं। एक एनपीएस खाताधारक के रूप में, आपको शेष राशि आपकी सेवानिवृत्ति के बाद मासिक पेंशन के रूप में प्राप्त होगी। इस योजना को 2004 में ही शुरू कर दिया गया था। पहले, एनपीएस योजना केवल केंद्र सरकार के कर्मचारियों के लिए ही था बाद में 2009 में , हालांकि, यह PFRDA ने इस योजना को स्वैच्छिक आधार पर सभी भारतीय नागरिकों के लिए लागू कर दिया है जो की इस योजना को संचालित भी करता है। PFRDA मतलब pension fund regulatory and development authority है और इससे स्थापित करने का मुख्य उद्देश्य बुजुर्गों के आय को सुरक्षित करना था। PFRDA का मुख्य काम हमारे फंड को डिवेलप और रेग्यूलेट करने के साथ ही साथ हमारे इंट्रेस्ट को प्रोटेक्ट करना है । NPS में इंट्रेस्ट रेट मार्केट के हिसाब से उतार चढ़ाव होता रहता है । एनपीएस में निवेश किया गया पैसा चार एसिड्स में बटा होता है 1. इक्विटी, 2. गवर्नमेंट बॉन्ड, 3. कॉरपोरेट बॉन्ड्स, 4. AIF यानि की रीयल स्टेट। तो इसमें आप औसत रिटर्न 10% से 15% तक कर सकते हैं जो की किसी और सरकारी स्कीम से सबसे ज्यादा है। इसमें टैक्स रिबेट आपको लगभग 2,60,000 रुपए तक का मिल जाता है । तो टैक्स बेनिफिट्स के मामले में भी ये स्कीम सबसे अच्छी है । अगर आप सरकारी कर्मचारी हो, निजी कर्मचारी हो या खुद का बिजनेस करते हो तो आसानी से इसमें निवेश कर सकते हो और अपने रिटायरमेंट की तैयारी कर सकते हो।

3. POST OFFICE MIS SCHEME 

अगली योजना है, डाकघर मासिक आय योजना या एमआईएस योजना जिसके बारे में हमने पहले भी बात की है। डाकघर मासिक आय योजना (POMIS) सबसे लोकप्रिय जोखिम मुक्त डाकघर बचत योजनाओं में से एक है जहां एक निवेशक न्यूनतम 1000 रूपए से जमा राशि के साथ निवेश कर सकता है। मध्यम और निम्न आय वर्ग के निवेशक इस डाकघर एमआईएस योजना को कर-बचत विकल्प के रूप में भी देख सकते हैं क्योंकि कोई व्यक्ति इस योजना में निवेश पर आयकर अधिनियम की धारा 80C के तहत आयकर छूट का दावा कर सकता है। इसमें 5 साल की लॉक-इन अवधि है और पोस्ट ऑफिस मासिक आय योजना की ब्याज दर पूरे निवेश अवधि में अपरिवर्तित रहेगी। इसमें अभी 6.6 प्रतिशत का इंट्रेस्ट रेट चल रहा है । यानि पोस्ट ऑफिस मासिक आय योजना पर रिटर्न की गारंटी है और एक निवेशक को निवेश के समय डाकघर मासिक आय योजना की ब्याज दर के अनुसार अपने पैसे पर रिटर्न मिलेगा। तो इसमें कोई भी भारतीय जिसकी उम्र 18 वर्ष से ज्यादा है आवेदन कर सकता है।

4. PUBLIC PROVIDENT FUND (PPF)

अगली योजना है, पीपीएफ या लोक भविष्य निधि। पब्लिक प्रोविडेंट फंड (पीपीएफ) योजना रिस्क फ्री होने के साथ साथ टैक्स फ्री इंवेस्टमेंट भी है और एक दीर्घकालिक निवेश विकल्प है जो निवेश की गई राशि पर आकर्षक ब्याज दर और रिटर्न प्रदान करता है। अर्जित ब्याज और रिटर्न आयकर के तहत कर योग्य नहीं हैं। इस योजना के तहत एक पीपीएफ खाता खोलना होगा और एक वर्ष के दौरान जमा की गई राशि पर धारा 80C कटौती के तहत दावा किया जाएगा। यह उन लोगों के लिए शुरू किया गया था जो सरकारी पेंशन के अन्तर्गत नही आते वो किसी असंगठित समूह में आते हैं या जो की EPF यानि एम्लोय प्रोवेडेंट फंड के अंतर्गत नही आते हैं ऐसे लोगों को उनकी सेवानिवृति के लिए फंड बिल्ड करने मे सरकार ने इस योजना को लागू किया है । इस स्कीम का इंट्रेस्ट रेट 7.1% का है जो की एफडी या बाकी स्कीम से काफी बेहतर है । इस स्कीम में निवेश करके आप सेक्शन 80C के अंदर 1.5 लाख रुपए तक का टैक्स डेड्क्शन क्लेम कर सकते हैं। यह आपकी सेवानिवृति को साथ रखने के साथ साथ आके लिए एक अच्छी धन राशि जमा करने हेतु बेस्ट स्कीम है।

5. NATIONAL SAVINGS CERTIFICATE (NSC)

अंतिम योजना जिस पर हमने चर्चा की, वह है एनएससी या राष्ट्रीय बचत प्रमाणपत्र।  राष्ट्रीय बचत प्रमाणपत्र (एनएससी) एक निश्चित आय निवेश योजना है जिसे आप किसी भी डाकघर शाखा के साथ खोल सकते हैं। यह योजना भारत सरकार की पहल है। यह एक बचत बांड है जो ग्राहकों को प्रोत्साहित करता है – मुख्य रूप से छोटे से मध्यम आय वाले निवेशकों को – आयकर पर बचत करते हुए निवेश करने के लिए।

पब्लिक प्रोविडेंट फंड और पोस्ट ऑफिस एफडी जैसे निश्चित आय साधन, यह योजना भी एक कम जोखिम वाली निश्चित आय उत्पाद है।  आप इसे अपने निकटतम डाकघर से, नाबालिग के लिए या किसी अन्य वयस्क के साथ संयुक्त खाते के रूप में खरीद सकते हैं। एनएससी पांच साल की निश्चित परिपक्वता अवधि के साथ आता है। एनएससी की खरीद पर कोई अधिकतम सीमा नहीं है, लेकिन केवल 1.5 लाख रुपये तक के निवेश से आपको आयकर अधिनियम की धारा 80C के तहत टैक्स छूट 1.5 लाख रुपए तक का मिल जाता है। यह पोस्ट ऑफिस की ही एक स्कीम है तो इसमें भी TDS डिडक्ट नहीं होता है। प्रमाणपत्रों पर एक निश्चित ब्याज मिलता है, जो वर्तमान में 6.8% प्रति वर्ष की दर से है। ब्याज दर सरकार द्वारा नियमित आधार पर संशोधित की जाती है। अगर आप इसमें 5 साल के लिए 1 लाख रुपए निवेश करते हो 6.8% की दर से तो 38,949 रुपए का कुल इंट्रेस्ट मिलता है और अगर 5 लाख तक निवेश करते हैं तो 2 लाख का इंट्रेस्ट मिल जाता है ।तो आप खुद देख सकते हैं की इसमें काम समय में कितना ज्यादा इंट्रेस्ट मिलता है तो आप भी जरूर इस स्कीम में निवेश करें

निष्कर्ष :- 

तो आज के इस आर्टिकल में हमने Top 5 Best Government Investment schemesके बारे में जाना जिसमे निवेश करके हम लाखो रुपए तक इंट्रेस्ट ले सकते है साथ ही अच्छी रिटर्न भी मिलता है और अच्छी फंड भी जमा कर सकते है अपने भविष्य को सिक्योर रखने के लिए । इन सारी स्कीम की सबसे अच्छी बात ये है की सरकार द्वारा संचालित है तो इसमें हम बिना किसी डर के निवेश कर सकते है और यहां हमारी सारी निवेश और इंट्रेस्ट सुरक्षित रहती है तो अगर आप अपने पैसे सरकारी स्कीम में ही निवेश करना चाहते हैं तो जो भी स्कीम हमने इस आर्टिकल में बताई है उनमें से किसी में भी आप निवेश कर सकते हैं और हम नीचे कमेंट बॉक्स में भी जरूर बताएं की इनमे से कौन सी स्कीम में आप निवेश करने के बारे मे सोच रहे है या पहले से निवेश कर रहे है । और अगर यह जानकारी अच्छी लगी हो तो अपने दोस्तों के साथ शेयर भी जरूर करें जो निवेश करने के बारे में सोच रहे हैं ।

Read Also : post Office MIS scheme

1 thought on “Top 5 Best Government Investment schemes in Hindi”

Leave a Comment